Acharya Vishnu Gupta ( चाणक्य ) Cover Image
Category
People and Nations

अपने मित्र को जन्मदिवस की शुभकामना संस्कृत मे दे ||

" जन्मदिनम् इदम् अइ प्रिय शखे - २
शन्तनो तु ते सर्वदामोदम् - २
प्रार्थ्याम्हे भवश्तायुषि -२
ईश्वर् सदा त्वाम च रक्षतु -२
पुन्य कर्मना किर्तिमर्जय: - २
जिवनम् तवा भवतु सार्थकम् -२

Like

आइये सुनते है संस्कृत अनुवादित गीत "सोखियों में घोला जाये"

नम्रविलासा बिभ्रति यदि नवकम्रकुसुमशृङारम्
पुनरपि तेषु विमिश्रयितव्या, मदिरसुधा मृदुधारम्
इति यो मदः स भवेत्, आम्....
इति यो मदः स भवेत् प्रणयामृतम्

नम्रविलासा बिभ्रति यदि नवकम्रकुसुमशृङारम्
पुनरपि तेषु विमिश्रयितव्या, मदिरसुधा मृदुधारम्
इति यो मदः स भवेत् प्रणयामृतम्
नम्रविलासा बिभ्रति यदि नवकम्रकुसुमशृङारम्

हे हे हे हे हे . . . .

Like

ध्यन रहे !! कि शत्रु को हथियार से जितने पर समज क नजर मे आने का डर होता है , और समाज को विपक्ष में करना अति हानिप्रद होता है॥

image
Like

शुप्रभातम् भारतीया:

सोना का परीक्षन जिस तरह से घिसकर, पिटकर, गरमाकर और तोडकर किया जाता है , उसी तरह व्यक्ति का परीक्षन उसके गुण, कर्म, त्यग और शिलता से किया जाता है ॥

image
Like

न कोइ किसी का मित्र है और न हि शत्रु । कार्यवश हि लोग मित्र और शत्रु बनते है॥

जय मां भारती ।

image
Like

शूप्रभात
उथिस्ठ भारत:

image
Like