Maharishi Vedic Health Centre Cover Image
Category
Health & Beauty

नेत्र तर्पणः आंखों पर औषधियुक्त घृत अथवा तेल डालने को नेत्रतर्पण कहा जाता है. यह क्रिया आंखों से धुंधला दिखना, आंखों का दुखना, रूक्षता, रतौंधी तथा वात व पित्ज अक्षि रोगों में अत्यंत लाभकारी है. रोगानुसार इस नेत्र तर्पण क्रिया में त्रिफलाधृत आदि का प्रयोग किया जाता है. यह क्रिया दृष्टिवर्धन का कार्य भी करती है |
Maharishi Vedic Health Centre MCEE Campus, Building -1 Lambakheda, Berasia Road, Bhopal, Madhya Pradesh, India. Call On : -07552432100, 9993099733
#panchakarma_treatment_in_bhopal
#treatment_by_ayurveda #ayurvedic_doctor_in_bhopal
http://mvhc.in/

image
Like

जड़ी बूटियों से तैयार किये गया पाउडर जिसका इस्तेमाल शरीर की मालिश करने के लिए किया जाता है उसको उद्धार्थनं कहा जाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए इसको तेल में मिलाकर शरीर की मालिश करने के लिए किया जाता है। इसके इस्तेमाल करने से शरीर की रंगत बढ़ती है, बड़ा हुआ मोटापा भी कम किया जाता है।
.यह शरीर की जकड़न को ठीक करता है और छिद्रों को खोलने में मदद भी करता है। यह त्वचा को तेल सोखने में मदद करता है।
.चेहरे से सम्बंधित रोग ठीक हो जातें है। यह चेहरे के दाग धब्बों को मिटाने में लाभकारी है। इसके इस्तेमाल से चेहरे का रंग और भी निखरता है।
.उद्वर्तन उपचार शरीर के अंदर विषैले पदार्थों को जमा होने से रोकता है।

image
Like

Shasti-Shali Pindasweda ia an #ayurvedic_therapy that is used for the purpose of strengthening muscles and to get relief from pain. This treatment also provides strength to the body tissues, bones and muscle.
Maharishi Vedic Health Centre MCEE Campus, Building -1 Lambakheda, Berasia Road, Bhopal, Madhya Pradesh, India. Call On : -07552432100, 9993099733
#panchakarma_treatment_in_bhopal
#treatment_by_ayurveda #ayurvedic_doctor_in_bhopal
mvhc.in

image
Like

पिण्ड स्वेदन ऊतको मे पोषण प्रदान करके पूरे शरीर को पुनर्जीवित करता हैं, ऊर्जा और सक्रियता को बहाल करता हैं, और तनाव को मुक्त करता हैं। लकवा रोग से ग्रसित व्यक्तियों के लिए बहुत लाभदायक ||
Maharishi Vedic Health Centre, MCEE Campus, Building -1 Lambakheda, Berasia Road, Bhopal, Madhya Pradesh, India. Call On : -07552432100, 9993099733
#paralysis_treatment #panchakarma_treatment_in_bhopal
#treatment_by_ayurveda #ayurvedic_doctor_in_bhopal
mvhc.in

image
Like

पंचकर्म कटि बस्ति के द्वारा कमर दर्द के रोग से मुक्ति पाये ||
कमरदर्द में कारगर है कटि बस्ति !!
गलत आदतें कमरदर्द का प्रमुख कारण हैं जैसे - कम्प्यूटर के आगे या ऑफिस में लगातार बैठकर काम करना, उठने-बैठने व चलने का गलत तरीका, हड्डियां कमजोर होना, शारीरिक श्रम न करना या ज्यादा करना और अत्यधिक तनाव जैसे कारणों से मांसपेशियों में खिंचाव आ जाता है व नसों की ताकत कम हो जाती है। जब यह प्रक्रिया लगातार चलती है तो कमर के निचले हिस्से में दर्द व पैर सुन्न हो जाते हैं। कई बार दर्द एड़ी तक चला जाता है और स्थिति बिगड़ जाती है। ऐसे में कटि बस्ति फायदेमंद होती है। साथ ही आयुर्वेदिक औषधियों, योग और नियमित व्यायाम के अभ्यास से रोगी को आराम मिलता है।

image
Like